श्याम चरण दुबे ने किस विश्वविद्यालय से पीएचडी की उपाधि प्राप्त की थी?

72
0
श्याम चरण दुबे ने किस विश्वविद्यालय से पीएचडी की उपाधि प्राप्त की थी?

श्याम चरण दुबे ने किस विश्वविद्यालय से पीएचडी की उपाधि प्राप्त की थी – दोस्तों श्याम चरण दुबे भारतीय समाजशास्त्री एवं साहित्यकार थे. लेखन के क्षेत्र में संस्कृति समाज और जीवन के ज्वलंत मुद्दों को बेहद सरल तरीके से आम जनों के बीच रखने के लिए लोकप्रिय थे. ऐसे विषयों पर उनकी तार्किक स्पष्टता बहुत कमाल थी.

उनकी रचनाओं में वास्तविकता की झलक दिखती थी. उन्हें भारत के अग्रणी समाज वैज्ञानिक भी कहा जाता है. इस आर्टिकल में हम उनके शिक्षा-दीक्षा के खास पहलू को जानेंगे. हम प्रमाण के साथ जानेंगे, तो इस आर्टिकल को अंत तक पूरा पढ़ें.

श्याम चरण दुबे ने किस विश्वविद्यालय से पीएचडी की उपाधि प्राप्त की थी?

अगर आप भी इस सवाल को लेकर परेशान है तो इसको लेकर इंटरनेट पर आपको अलग-अलग जानकारियां मिल जायेंगी. लेकिन वह काफी भ्रामक हैं. कहीं भी स्पष्ट तौर पर नहीं बताया गया है कि श्याम चरण दुबे ने किस विश्वविद्यालय से पीएचडी की उपाधि प्राप्त की थी.

इस आर्टिकल में आपको प्रूफ के साथ यह बताया जा रहा है कि असल में इन्होंने मानव विज्ञान में पीएचडी की थी. और इन्होंने जी विश्वविद्यालय से पीएचडी की थी वह नागपुर विश्वविद्यालय था. इस आर्टिकल को पूरा पढ़ेंगे, तो आपको इसका प्रमाण भी मिल जाएगा.

प्रमाण

इसका प्रमाण आपको कक्षा 9 के एनसीईआरटी किताब क्षितिज के तीसरे अध्याय में जानकारी की पुष्टि मिलती है कि श्याम चरण दुबे ने किस विश्वविद्यालय से PHD की उपाधि प्राप्त की थी. क्षितिज पुस्तिका के पाठ तीन जिसका नाम है उपभोक्तावाद की संस्कृति. उसके लेखक श्याम चरण दुबे ही हैं. जिसे एनसीईआरटी की किताब में शामिल किया गया है. इसके साथ-साथ लेखक की संक्षिप्त जानकारी भी प्रदान की गई है. जिसमें इस बात का उल्लेख किया गया है कि श्याम चरण दुबे ने किस विश्वविद्यालय से PHD की उपाधि प्राप्त की थी. वह स्पष्ट तौर पर यह लिखा हुआ है.

किस विषय पर किया था शोध

तो आपको बता दें कि इन्होंने 1951 में अपना शोध कार्य तत्कालीन मध्य प्रदेश( वर्तमान छत्तीसगढ़) में स्थानांतरित कृषि करने वाली एक जनजाति जिसे कमर नाम से जाना जाता है. उस पर शोध कार्य किया. यह उनका पहला शोध कार्य था. और उस आधार पर उन्होंने 1954 में द कमर नामक प्रथम पुस्तक लिखी थी.

संक्षिप्त जीवन

इनका जन्म वर्ष 1922 में मध्य प्रदेश के बुंदेलखंड में हुआ था. आ जाता है कि उनकी मां का निधन जब यह बहुत छोटे थे तभी हो गया था. इनके प्रारंभिक शिक्षा गांव के ही प्राथमिक विद्यालय में हुई थी इसके बाद शिक्षा का सफर नागपुर विश्वविद्यालय तक पहुंचा था. इन्होंने कई विश्वविद्यालय में अध्यापन कार्य किया. इसके साथ-साथ यह कई महत्वपूर्ण संस्थानों में उच्च पदों पर रहे.

यह पोस्ट भी पढ़े: राजनीतिक दलों के प्रमुख अंग लिखिए | Rajniti dalo ke pramukh ang likhiye

इनकी प्रमुख रचनाएँ

इनकी प्रमुख रचनाएं निम्नलिखित हैं :

  1. मानव और संस्कृति
  2. परंपरा और इतिहास बोध
  3. संस्कृति तथा शिक्षा
  4. समाज और भविष्य
  5. भारतीय ग्राम
  6. संक्रमण की पीड़ा
  7. विकास का समाजशास्त्र
  8. समय और संस्कृति

निष्कर्ष – आशा है कि आपको आपके प्रमुख सवाल श्याम चरण दुबे ने किस विश्वविद्यालय से PHD की उपाधि प्राप्त की थी, का जवाब मिल गया होगा. हम ऐसे ही विषयों पर जानकारियां प्रदान करते हैं. अपने किसी सवाल को आप कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *