राजनीतिक दलों के प्रमुख अंग लिखिए | Rajniti dalo ke pramukh ang likhiye

87
9
राजनीतिक दलों के प्रमुख अंग लिखिए | Rajniti dalo ke pramukh ang likhiye

राजनीतिक दलों के प्रमुख अंग लिखिए – दोस्तों हमारा देश ऐसा है कि भले ही हमें संविधान की जानकारी ना हो.हमें हमारे मूल अधिकारों की जानकारी ना हो. हमें हमारे कर्तव्यों की जानकारी ना हो. लेकिन हमें राजनीतिक दल के बारे में जरूर पता होता है. और खासकर उन्हें राजनीतिक दल के अंदर क्या हो रहा है. यह पता होता है. हम जिसमें हम दिलचस्पी लेते हैं. उसकी सारी ख़बर रखते हैं. जिस प्रकार हर आदमी की अपनी चॉइस होती है. उसी प्रकार राजनीतिक दलों का लेकर भी अपना-अपना चुनाव होता है. लोग अपनी-अपनी मानसिकता या विचारधारा के आधार पर राजनीतिक दलों का चुनाव करते हैं.

इस आर्टिकल में राजनीतिक दल किसे कहते हैं. क्या उनका कोई प्रकार भी होता है. और इसके साथ-साथ अगर आप इस सवाल का जवाब ढूंढ रहे हैं कि राजनीतिक दलों के प्रमुख अंग लिखिए. तो इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े. आपके सारे सवालों का जवाब मिल जाएगा. जिससे कहीं और ढूंढने की जरूरत नहीं पड़ेगी.

राजनीतिक दल किसे कहते हैं?

साधारण भाषा में एक समान उद्देश्य वाले व्यक्तियों या लोगों के समूह को दल कहते हैं. अब अगर वह एक समान उद्देश्य राजनीतिक हो तो उस राजनीतिक समान उद्देश्य वाले लोगों के समूह को ही राजनीतिक दल कहते हैं.

इनकी अपनी एक विचारधारा होती है. जिसको लेकर वह जनता का समर्थन और सहयोग चाहते हैं. और उसी विचारधारा के आधार पर चुनाव लड़ते हैं. और जीतकर अपने विचारधारा के हिसाब से सरकार बनाना और चलाना चाहते हैं.

राजनीतिक दल की परिभाषा :

  1. प्रोफेसर लीकॉक के अनुसार, राजनीतिक दल से हमारा तात्पर्य नागरिकों के उसे संगठित समूह से होता है.जो एक राजनीतिक इकाई के रूप में कार्य करते हैं.
  2. एडवर्ड बर्क कहते हैं कि राजनीतिक दल कुछ लोगों का एक ऐसा समूह होता है. जो कुछ सिद्धांतों पर एक मत होकर अपने संयुक्त प्रयासों द्वारा जनहितों को आगे बढ़ने का प्रयास करता है.

राजनीतिक दलों के प्रमुख कार्य क्या है?

एक लोकतांत्रिक देश के लिए राजनीतिक दल बहुत आवश्यक अंग होता है. क्योंकि लोकतंत्र की धुरी कहीं ना कहीं राजनीतिक दल से ही जुड़ी हुई होती है. एक व्यक्ति के लिए लोकतंत्र का मतलब ही राजनीतिक दल होता है. वह अपनी विचारधारा के अनुसार अपने नेताओं का चुनाव करते हैं. और उनसे ही उम्मीद रखते हैं.

राजनीतिक दलों के प्रमुख अंग लिखिए | Rajniti dalo ke pramukh ang likhiye

आईये अब उनके प्रमुख कार्यों के बारे में जानते हैं :

  1. इनका प्रमुख कार्य में से एक होता है चुनाव लड़ना. चुनाव जीतना और अपने विचारधारा के अनुसार शासन करना.
  2. दलीय नीति तय करना : प्रत्येक राजनीतिक दल की अपनी एक विचारधारा और एक नीति होती है जैसे निर्धारित करना आवश्यक होता है.
  3. नीति का प्रचार- प्रसार : किसी भी राजनीतिक दल का आखिरी उद्देश्य बस सत्ता हासिल करना होता है. और सत्ता हासिल करने का एक ही माध्यम होता है जनता का विश्वास. जनता का विश्वास जीतने के लिए राजनैतिक दल अपने नीति का प्रचार-प्रसार करते हैं. और अपनी शक्तियों को बढ़ाते हैं.
  4. उम्मीदवारों का चयन और चुनाव में जीतना : राजनीतिक दल विधानसभा या लोकसभा या अन्य स्तर के चुनाव के लिए उम्मीदवारों का चयन करते हैं और उन्हें जीताने के लिए अपना भरसक प्रयास करते हैं.
  5. इसके साथ-साथ इनकी देश के कानून निर्माण में अहम भूमिका होती है. ये कानून पर औपचारिक बहस में शामिल होते हैं.

इसके अलावा सरकार का निर्माण करना, सरकार के विभिन्न विभागों में समन्वय या सामंजस्य रखना, जनता और सरकार के बीच संबंध सुदृढ़ करना, देश हित के लिए कार्य करना एवं सामाजिक, आर्थिक एवं सांस्कृतिक विकास के कार्य को करना भी इनके ही दायरे में आता है.

राजनीतिक दलों के प्रमुख अंग लिखिए

राजनीतिक दल एक विशेष तरह के लोगों का समूह होता है जिसकी विचारधारा यह सोच एक जैसी होती है उनकी पृष्ठभूमि भिन्न-भिन्न हो सकते हैं तो आईए जानते हैं कि राजनीतिक दलों के प्रमुख अंग कौन-कौन से हैं :

  1. नेता
  2. सदस्य या कार्यकर्ता
  3. समर्थक
  4. नीति या विचारधारा
  5. चुनावी उम्मीदवार
  6. संरचना
  7. बेस वोटर
  8. थिंक टैंक

यह पोस्ट भी पढ़े: बिंब विधान योजना से क्या तात्पर्य है उदाहरण सहित लिखिए | Bimb vidhan yojana se kya tatparya hai udaharan sahit likhiye

1. नेता

यह व्यक्ति जो राजनीतिक दल में रहते हुए समूह को लीड करता है. ये दल की प्रमुख नीतियों को तैयार करते हैं. और कार्यक्रम संबंधी योजना बनाते हैं. इसके साथ-साथ यही चुनाव में लड़ने वाले प्रतिस्पर्धियों की सूची तैयार करते हैं. या उन्हें निर्धारित करते हैं. इनमें से कुछ चुनाव भी लड़ते हैं और अगर यह चुनाव जीतते हैं तो प्रशासनिक कार्य में संलग्न होते हैं.

2. सदस्य या कार्यकर्ता

यह लोग दल के वैचारिक समर्थन होते हैं जो राजनीतिक दल की प्रगति के लिए एक स्वयंसेवक के तौर पर कार्य करते हैं और यह इन नेताओं के कार्य करता बन जाते हैं यानी कि इन नेताओं के विजन और लक्ष्य को जमीनी स्तर पर उतारने उसे साकार करने में नेताओं के अंग बन जाते हैं.

3. समर्थक

समर्थन होना और कार्यकर्ता होना इन दोनों में एक बहुत बारीक फर्क है कार्यकर्ता नेताओं के विजन और कार्य के सहभागीय होते हैं वह नेताओं के काम में हाथ बताते हैं जबकि समर्थक बस नेता या पार्टी के विचारधारा का समर्थन करता है यह समर्थन जरूरी नहीं है कि साथ रहकर ही करें समर्थन का अर्थ होता है कि वह दूर से भी समर्थन कर सकता है आज के सोशल मीडिया के जमाने में किसी नेता या राजनीतिक दल के विचार को सही बताते हुए एक ट्वीट करना या फेसबुक पोस्ट करना या व्हाट्सएप ग्रुप में कुछ शेयर करना यह भी राजनीतिक समर्थन को ही दर्शाता है.

4. नीति या विचारधारा

नीति या विचारधारा किसी भी राजनीतिक दल के बुनियादी अंग होते हैं. किसी भी राजनीतिक दल की नींव ही उसकी नीति और विचारधारा पर खड़ी होती है. जिसका वह प्रचार प्रसार करते हैं और उसी विचारधारा के आधार पर ही अपने दल को बड़ा बनाते हैं.

5. चुनावी उम्मीदवार

राजनीतिक दल का उद्देश्य सत्ता पर काबिज होना ही होता है. इसके लिए चुनावी उम्मीदवार भी उनके प्रमुख अंगों में से एक कहे जा सकते हैं.

6. संरचना – राजनीतिक दलों के प्रमुख अंग

इसमें संगठन के फ्रेमवर्क जिसमें स्थानीय, रिजनल और राष्ट्रीय ब्रांच शामिल होते हैं. जो राजनीतिक दल के कार्यों को सुगम बनाते हैं.

7. बेस वोटर – राजनीतिक दलों के प्रमुख अंग

हर राजनीतिक दल के कुछ खास बेस वाटर होते हैं. जो समर्थक से बढ़कर होते हैं क्योंकि यह समर्थक की तरह दिखावा नहीं करते हैं. और कार्यकर्ता की तरह whole timer नहीं होते हैं. लेकिन यह राजनीतिक दल के उद्देश्य की पूर्ति के सबसे बड़े स्तंभ होते हैं.

8. थिंक टैंक – राजनीतिक दलों के प्रमुख अंग

यह राजनीतिक दल की प्रगति के लिए बेहद आवश्यक होते हैं. यह कोई अकेला व्यक्ति या कुछ चंद लोगों के समूह में हो सकते हैं. जो नीति का निर्धारण और विकास के साथ-साथ पार्टी की विचारधारा से संबंधित रिसर्च कर बदलाव सुझाते हैं. या पार्टी के बेहतरी के लिए निर्णय लेते हैं.

इन प्रमुख अंगों के अलावा भी राजनीतिक दल के कई अंग होते हैं. जो आवश्यक होते हैं जैसे कि इनका अपना प्रचार विभाग, संगठन विभाग, वित्त विभाग, प्रशिक्षण विभाग, योजना विभाग और संस्कृति विभाग जैसे विभाग. जिसका राजनीतिक दल अपनी सुविधा या जरूरत के अनुसार निर्माण करते हैं.

निष्कर्ष – हम आशा करते हैं कि ‘राजनीतिक दलों के प्रमुख अंग लिखिए’ सवाल का आपको पूरा जवाब मिल गया होगा. ऐसे ही अन्य जानकारी के लिए हमारे वेबसाइट पर विजिट करते रहिए. और आपको यह जानकारी कैसी लगी यह कमेंट कर बताइए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

9 thoughts on “राजनीतिक दलों के प्रमुख अंग लिखिए | Rajniti dalo ke pramukh ang likhiye

  1. […] यह पोस्ट भी पढ़े : राजनीतिक दलों के प्रमुख अंग लिखिए | Rajniti … […]

  2. […] यह पोस्ट भी पढ़े: राजनीतिक दलों के प्रमुख अंग लिखिए | Rajniti … […]

  3. […] यह पोस्ट भी पढ़े: राजनीतिक दलों के प्रमुख अंग लिखिए | Rajniti … […]

  4. […] यह पोस्ट भी पढ़े: राजनीतिक दलों के प्रमुख अंग लिखिए | Rajniti … […]

  5. […] यह पोस्ट भी पढ़े: राजनीतिक दलों के प्रमुख अंग लिखिए | Rajniti … […]

  6. […] यह पोस्ट भी पढ़े: राजनीतिक दलों के प्रमुख अंग लिखिए | Rajniti … […]

  7. […] यह पोस्ट भी पढ़े: राजनीतिक दलों के प्रमुख अंग लिखिए | Rajniti … […]

  8. […] यह भी पढ़े: राजनीतिक दलों के प्रमुख अंग लिखिए | Rajniti … […]

  9. […] यह पोस्ट भी पढ़े: राजनीतिक दलों के प्रमुख अंग लिखिए | Rajniti … […]