Plasticity Kya hai | What is plasticity | सम्पूर्ण जानकारी

24
1
Plasticity Kya hai

दोस्तों कुछ कॉन्सेप्ट सुनने में बहुत उलझा हुआ लगता है. लेकिन समझ जाने पर वह बहुत आसान लगता है. ऐसा  ही एक कांसेप्ट है.Plasticity. अगर आप Plasticity Kya hai in hindi जानना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को पूरा अंत तक पढ़े.

Plasticity Kya hai. What is Plasticity?

अगर Plasticity Kya hai meaning की बात की जाए. तो प्लास्टिसिटी को हिंदी में नवनियता या ढलनशीलता कहते हैं. अर्थात साधारण हिंदी में पदार्थ का वह गुण जिसकी वजह से वह किसी परिस्थिति में ढल सकता है.

Plasticity Kya hai in english

अगर अंग्रेजी में प्लास्टिसिटी की बात की जाए. तो अंग्रेजी में इसका डेफिनेशन है. The quality of being easily shaped or moulded. अर्थात आसानी से आकार बदलने का गुण.

Plasticity Kya hai in Hindi

भौतिकी के अनुसार प्लास्टिसिटी किसी पदार्थ का वह गुण है. जिससे उसके आकार में आसानी से बदलाव हो सकता है. यह इलास्टिसिटी के ठीक उलट होता है. इलास्टिसिटी को हम रबड़ के उदाहरण से समझ सकते हैं. जब हम किसी रबर को खींचते हैं. तो वह फैलता है. लेकिन छोड़ने के बाद वह वापस अपने आकार में आ जाता है. उसे इलास्टिसिटी कहते हैं. 

Plasticity Kya hai Hindi me परिभाषा

जब किसी पदार्थ पर कोई बाहरी बल कार्य करता है. उसकी वजह से उसके आकार में परमानेंट बदलाव आ जाए, तो किसी पदार्थ के इस गुण को प्लास्टिसिटी कहेंगे. इसे प्लास्टिक डिफॉर्मेशन भी कहते हैं. यह नॉन रिवर्सिबल टाइप का चेंज होता है.

इलास्टिक लिमिट की समझ है ज़रूरी

अगर आपने इलास्टिक लिमिट की समझ प्राप्त कर ली. तो भौतिकी के अनुसार प्लास्टिसिटी की परिभाषा को आप बेहतर तरीके से समझ पाएंगे. अगर आप किसी रबर को खींचते हैं. और छोड़ने पर वापस वह अपने पुराने आकार में आ जाता है. तो इसे इलास्टिसिटी कहेंगे. अब इस खींचने की भी एक सीमा होगी. जब हम रबर को उसे सीमा से ज्यादा खींच देंगे. तो वह वापस अपने पुराने आकार में नहीं बदल पाएगा. जिससे यह प्लास्टिसिटी का गुण दिखाएगा.

आप पढ़ रहे हैं – Plasticity Kya hai

यानी कि इलास्टिक लिमिट किसी पदार्थ की वह सीमा होती है. जहां तक उसके ऊपर फोर्स लगाकर हटाने के बाद भी वह अपने पुराने आकार में बदल जाता है. यह हर पदार्थ की अलग-अलग होती है.

Plasticity Kya hai

प्लास्टिसिटी क्या है in biology

बायोलॉजी की भाषा में इसे सुघट्यता कहते हैं.  पादप का ऐसा गुण जो अपने आप को पर्यावरण परिवर्तन के अनुकूल बना लेता है. बायोलॉजी की भाषा में उसे प्लास्टिसिटी कहते हैं. इसका मतलब है कि पौधे का वह गुण जिसके कारण वह अपने आप को पर्यावरण के अनुसार ढाल लेता है.

यह पोस्ट भी पढ़े: Mobile Se Gmail Account Kaise Delete Kare | मोबाइल से जीमेल अकाउंट कैसे डिलीट करे

न्यूरोसाइंस की भाषा में Plasticity kya hai paribhasha 

अभी हमने भौतिकी और बायोलॉजी के अनुसार प्लास्टिसिटी की परिभाषा को जाना. अगर हम न्यूरोसाइंस के हिसाब से देखें. तो यहां भी इसे ब्रेन के फ्लैक्सिबल होने के अर्थ में ही जाना जाता है. सरल शब्दों में एनवायरनमेंट, सोच, इंजरी, लर्निंग और व्यवहार आदि को लेकर हमारे दिमाग में होने वाले चेंज एवं फंक्शन को इसके अंतर्गत समझा जाता है. यह ब्रेन को अनुकूलता प्रदान करता है.

निष्कर्ष – हम आशा करते हैं कि इस आर्टिकल के माध्यम से आपने Plasticity Kya hai in hind के बारे में गहराई से जान लिया होगा. हमने इस आर्टिकल में प्लास्टिसिटी क्या है in english, फिजिक्स के दृष्टिकोण से प्लास्टिसिटी क्या है एवं बायोलॉजी के अनुसार भी इसकी क्या परिभाषा है. इन सभी को बताने की कोशिश की है. आशा करते हैं, यह आपके लिए बहुत उपयोगी रहा होगा. आप अपने विचार हमें कमेंट सेक्शन में कमेंट करके बता सकते हैं.धन्यवाद!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

One thought on “Plasticity Kya hai | What is plasticity | सम्पूर्ण जानकारी