WhatsApp का नया अपडेट: जानिए End to End Encrypted का मतलब और उसके फायदे

15
1
WhatsApp Par Last Seen Ki Jagah End to End Encrypted Kyu Likh Raha Hai

दोस्तों व्हाट्सएप हर दिन एक नई अपडेट के साथ हमें हैरान कर रहा है. अभी हाल ही में कुछ देशों में व्हाट्सएप ब्लू से ग्रीन हो गया. जबकि भारत में यह अपडेट बहुत पहले आ चुका है. लगभग 1 साल पहले ही अपडेट आ चुका था. इसलिए भारत के लोगों को इस तरह की कोई परेशानी नहीं हुई. लेकिन अभी बात करेंगे व्हाट्सएप के नए अपडेट End to End Encrypted की. आखिर यह End to End Encrypted क्या है. यह किस तरह हमारे लिए फायदेमंद है. व्हाट्सएप ने इस फीचर को क्यों लाया है. और इस फीचर से हमारे मैसेजिंग के तरीके में क्या बदलाव आने वाला है. तो इसलिए इस आर्टिकल को अंत तक पूरा पढ़िए ताकि आपके मन के सभी सवालों का आपको जवाब पूरी तरह मिल जाए.

क्या है End to End Encrypted का मतलब

आपके मन में यह पहला सवाल आ रहा होगा कि आखिर End to End Encrypted क्या है. व्हाट्सएप इस अपडेट के साथ यूजर्स को किस तरह का अनुभव देने वाला है. बात अगर End to End Encryption की करें तो आपको बता दे कि यह एक तरह का प्राइवेसी और सिक्योरिटी से रिलेटेड फीचर है. जो व्हाट्सएप के नए अपडेट के साथ आपको चैट करने के दौरान दिखाई देगा.

सवाल अब भी वही है कि आखिर End to End Encrypted है क्या? तो व्हाट्सएप का कहना है कि यह फीचर सुनिश्चित करता है कि आप जिनसे बात कर रहे हैं उस चैट, फोटो, वीडियो को आपके और सामने वाले के अलावा और कोई नहीं पढ़ सकता है. यहां व्हाट्सएप के शब्दों में इंक्रिप्टेड का मतलब सुरक्षित है. यहां तक कि व्हाट्सएप का ऐसा कहना है कि End to End Encryption चैट को व्हाट्सएप खुद भी नहीं पढ़ सकता है. End to End Encryption फीचर के साथ व्हाट्सएप पर किए गए चैट, फोटो, वीडियो, वॉइस मैसेज, डॉक्यूमेंट, स्टेटस अपडेट और कॉल सभी प्राइवेसी और सिक्योरिटी के मामले में सुरक्षित होते हैं. इसे कोई भी तीसरा इंसान नहीं पढ़ सकता है. खुद व्हाट्सएप के लिए भी ऐसा करना संभव नहीं है.

कैसे काम करता है End to End Encrypted फीचर

अब आप यह सोच रहे होंगे कि यह फीचर कैसे काम करता है. तो आपको बता दे कि अगर किसी एक दरवाजे की चाभी सिर्फ आपके पास हो और आपके पार्टनर के पास हो. तो वैसे में उस दरवाजे को अनलॉक या तो आप कर सकते हैं या आपका पार्टनर कर सकता है. इसके अलावा और कोई नहीं कर सकता है. यह फीचर भी ठीक इसी तरह काम करता है. व्हाट्सएप के अनुसार End to End Encryption मैसेज एक लॉक के जरिए सिक्योर रहता है. और व्हाट्सएप पर मैसेज भेजने वाला और रिसीव करने वाले के पास ही वह स्पेशल की यानी चाभी होती है. जिसकी मदद से वह मैसेज अनलॉक हो जाता है. और इस तरह उस मैसेज को सिर्फ भेजने वाला या रिसीव करने वाला ही पढ़ सकता है.

यह पोस्ट भी पढ़े: WhatsApp Hack Hai Ya Nahi Kaise Pata Kare 2024

WhatsApp Par Last Seen Ki Jagah End to End Encrypted

अगर आपने आज अपना व्हाट्सएप खोल होगा. तो आपको अपने दोस्तों पार्टनर या जिसे भी आप चैट करना चाहते हैं. उनके नाम के नीचे लास्ट सीन की जगह End to End Encrypted लिखा हुआ आ रहा होगा. असल में यह व्हाट्सएप का नया अपडेट है. जिसके तहत व्हाट्सएप यह बताना चाहता है कि आप जिनके साथ भी चैट कर रहे हैं उस व्यक्ति के साथ आपका चैट पूरी तरह से सुरक्षित है. और इससे कोई भी तीसरा इंसान नहीं पढ़ पाएगा .व्हाट्सएप के अनुसार यह दो यूजर्स के बीच की आपसी बातचीत या चैट को किसी तीसरे की नजरों से सेफ रखने के लिए किया गया है.

WhatsApp Par Last Seen Ki Jagah End to End Encrypted Kyu Likh Raha Hai

ऐसा इसलिए किया गया है क्योंकि व्हाट्सएप अपने यूजर्स की प्राइवेसी को लेकर बहुत सक्रिय रहता है. यही कारण है कि आपने इंस्टाग्राम हैक. फेसबुक हैक जैसी चीजों के बारे में सुना होगा. लेकिन आपने व्हाट्सएप हैक जैसी घटना के बारे में कम ही सुना होगा. इसके पीछे व्हाट्सएप के प्राइवेसी और सिक्योरिटी है. यही वह कारण है जो दो यूजर्स के बीच के बातचीत को बहुत सुरक्षित तरीके से रखता है. यह End to End Encrypted एक तरह से एक प्राइवेसी फीचर है.

इस फीचर के जरिए आप जिसे भी चैट करते हैं. वह सुरक्षित हो जाता है. व्हाट्सएप का ऐसा कहना है कि End to End Encrypted फीचर के जरिए भेजे गए सारे मैसेज एक लोक के जरिए safe हो जाता है. और आपकी निजी बातचीत जो काफी संवेदनशील भी हो सकती है वह सिर्फ आपके और आपके पार्टनर के बीच रहता है.

WhatsApp Par Last Seen Ki Jagah End to End Encrypted Kyu Likh Raha Hai

WhatsApp End to End Encrypted Ka Matlab Kya Hota Hai

मान लीजिए आप व्हाट्सएप पर किसी को नमस्ते लिखकर मैसेज करते हैं. आपके द्वारा यह मैसेज भेजते ही मशीन की भाषा में बदल जाता है. यानी मशीनी कोड में बदल जाता है. और जिस व्यक्ति को यह मैसेज भेजा जाता है. वापस उनके व्हाट्सएप पर पहुंचते ही यह डिक्रिप्ट हो जाता है. यानी वह मशीनी भाषा बदलकर वापस से नमस्ते हो जाता है. इस तरह आपने जो मैसेज भेजा होता है. वह सिर्फ आप या आप जिनको भेजते हैं. वही पढ़ पाते हैं. इस बीच में वह मैसेज मशीनी कोड के रूपमें रहता है.

जिस वजह से किसी तीसरे के लिए उस मैसेज को पढ़ पाना संभव नहीं होता है. यही कारण है कि अगर आपके द्वारा भेजे गए किसी मैसेज को कोई हैक भी कर लेता है तो वह उस मैसेज का कोई मतलब नहीं निकल पाएगा. यानी उस मैसेज को डिकोड नहीं कर पाएगा. ठीक ऐसा ही कुछ आपके द्वारा भेजा गए फोटो, वीडियो, वॉइस मैसेज, वीडियो कॉल या ऑडियो कॉल के साथ भी होता है.

तो इस तरह से यह व्हाट्सएप का नया अपडेट आपको एक तरह की सुरक्षा प्रदान करता है. कि आप बेफिक्र होकर व्हाट्सएप पर किसी से भी बात कर सकते हैं. और आपके चैट पूरी तरह से सुरक्षित होते हैं.

क्या है End to End Encrypted के फायदे

अभी तक आपने यह समझ लिया होगा कि End to End Encrypted का मतलब क्या होता है. अब अगर देखा जाए, तो उनके फायदे के बारे में भी जानते हैं कि यह हमारे मेसेजिंग के अनुभव को किस तरह बेहतर बनाता है.

  • यह आपके व्हाट्सएप को हैक होने से बचाता है.
  • यह हैकर से आपकी डाटा को सुरक्षित करता है.
  • हैकर आपका डाटा को हैक कर भी उसे डिस्क्रिप्ट नहीं कर पाएंगे यानी पढ़ नहीं पाएंगे.
  • इस फीचर की वजह से व्हाट्सएप भी आपके द्वारा भेजे गए मैसेज को नहीं पढ़ सकता है.
  • यह आपकी निजता को सुरक्षित रखता है.
  • यह आपकी अभिव्यक्ति की आजादी को सुनिश्चित करता है.
  • यह एक तरह से आपका वह डिजिटल कोना होता है जहां आप बेफिक्र होकर बात कर सकते हैं या सूचनाओं का आदान-प्रदान कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

One thought on “WhatsApp का नया अपडेट: जानिए End to End Encrypted का मतलब और उसके फायदे

  1. […] सबसे पहले कपास की तुलाई कर उसे जिनिंग मशीन में डाला जाता […]