सार संक्षेपण की तीन विशेषताएं लिखिए | Saar sankshepan ki tin visheshtayen likhiye

78
2
सार संक्षेपण की तीन विशेषताएं लिखिए

सार संक्षेपण की तीन विशेषताएं लिखिए – दोस्तों यह साल 2024 है. यहां किसी के पास रुक कर बात करने का भी समय बहुत कम होता है. आज की भाग दौड़ भरी जिंदगी में समय की कमी हर किसी को होती है. यही कारण है कि इंसान अभी के समय में काम से कम समय का उपयोग कर अधिक से अधिक बातें जान लेना चाहता है. अब चाहे वह कोई न्यूज़ हो या कोई लेख या कोई रिपोर्ट है. ऐसे में Saar Sankshepan kya hai यह जानना बहुत महत्वपूर्ण हो जाता है.

इस आर्टिकल में सार संक्षेपण के महत्व को जानेंगे कर संक्षेपण की तीन विशेषताओं के बारे में जानेंगे जो आपके लिए जानना बहुत आवश्यक है इस आर्टिकल को पूरा अंत तक पढ़े ताकि आप किसी तरह की गलतफहमियों में ना रहें.

सार संक्षेपण किसे कहते हैं? Saar Sankshepan kise kahate hain

किसी भी विचार को पूरे विस्तार से बताना बहुत सरल है. वहां हमें शब्दों और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता होती है. बड़े-बड़े आलेख लिखना, किसी टॉपिक पर बड़े-बड़े भाषण लिखना, किसी संदेश को अधिक से अधिक शब्दों में पूरे स्पष्ट तरीके से व्यक्त करना यह मुश्किल कार्य नहीं है. लेकिन जब बात इस संदेश आलेख या रिपोर्ट को संक्षेप में प्रस्तुत करने की होती है, तो यह अधिक कठिनाई भरा कार्य है.

Sar Sankshepan Ki Paribhasha

किसी भी अनुच्छेद, विस्तृत टिप्पणी, लेख, प्रतिवेदन, गद्य इत्यादि के मूल भाव को बिना बदले कम से कम शब्दों में सरल तरीके से प्रकट करना ही संक्षेपण कहलाता है.

सार संक्षेपण का अर्थ क्या है | Saar Sankshepan kya hai

Sar sankshepan meaning – संक्षेपण के अर्थ की बात की जाए तो संक्षेपण का अंग्रेजी अर्थ होता है ‘Precis’ और हिंदी अर्थ होता है संक्षिप्तीकरण. Precis शब्द फ्रेंच भाषा के प्रेसीयूअर शब्द से निकला है. बड़े-बड़े आलेख, लेख, रिपोर्ट, न्यूज़, भाषण अगर उन सभी के बात की ओरिजिनालिटी को बनाए रखते हुए. उस भाव से बिना छेड़छाड़ किए कम से कम शब्दों में उस तथ्य को प्रस्तुत किया जाए. वही संक्षिप्तीकरण कहलाता है.

सार संक्षेपण की तीन विशेषताएं लिखिए

सार संक्षेपण की तीन विशेषताएं लिखिए

अगर सार संक्षेपण में यह तीन विशेषताएं दिखती हैं. तो उसे बेहतर सार संक्षेपण कहा जाता है. वह तीन विशेषताएं निम्नलिखित हैं :

  1. भाव को बनाये रखना
  2. संक्षिप्तता का कौशल
  3. भाषा की शुद्धता को बनाए रखना

यह पोस्ट भी पढ़े: संवैधानिक अध्यक्ष से आपका क्या अभिप्राय है समझाकर लिखिए | Samvaidhanik Adhyaksh Kya Abhipray Hai Samjha Kar Likhiye?

१. भाव को बनाये रखना :

सर संक्षेपण का उद्देश्य भले ही किसी बड़े विषय वस्तु को संक्षेप में करना होता है. लेकिन इसमें यह ध्यान रखने योग्य बात है कि उसका मूल भाव बना रहे. उसके मूल भाव के साथ कोई छेड़छाड़ ना हो. उस पूरे वृहद विषय वस्तु में जिस भाव की बात की गई है. वह सार संक्षेपण में बरकरार रहे.

2. संक्षिप्तता का कौशल :

विषय वस्तु को संक्षेप में बदलना भी एक तरह का कौशल है. किसी वृहद विषय वस्तु को लिखते समय हमें शब्दों की स्वतंत्रता होती है. लेकिन कम से कम शब्दों में इस भाव को बनाए रखना काफी कठिन कार्य है. शब्दों की संख्या के आधार पर देखा जाए तो ऐसा कहा जाता है कि बृहद विषय वस्तु का एक तिहाई शब्दों में ही सार संक्षेपण को सिमट जाना चाहिए.

3. भाषा की शुद्धता को बनाए रखना :

संक्षेपण कोई सरल कार्य नहीं है. इसके लिए वृहद भाषा ज्ञान का होना बहुत आवश्यक है. संक्षेपण में प्रवाह, सरलता और स्पष्ट को ध्यान में रखने की आवश्यकता होती है. हम बहुत ही उलझे हुए शब्दों में संक्षेपण नहीं कर सकते हैं. इसके साथ ही हमें भाषा की क्रमबद्धता का भी ध्यान रखना होता है. इसके लिए एक संक्षेपण करने वाले व्यक्ति के पास भाषा से संबंधित कौशल का होना बहुत आवश्यक है.

Sar sankshepan kaise karte hai | सार संक्षेपण की विधि

सार संक्षेपण के लिए व्यक्ति का अच्छा रीडर होना बहुत आवश्यक है. संक्षेपण करने के लिए आपको पूरे विषय वस्तु को पढ़ाना होता है.

  1. उसमें से मूल तत्व को, मूल भाव को समझना आवश्यक होता है जिनको आपको सार संक्षेपण में रखना ही रखना है.
  2. यदि शीर्षक की आवश्यकता हो, तो संक्षिप्त शीर्षक के साथ शुरुआत करें.
  3. इसके बाद आपको उन सभी बातों को क्रमबद्ध तरीके से लिखना शुरू करना है. जिन्हें सार में रखना है.
  4. अप्रासंगिक बातों को अपने सर संक्षेपण में शामिल नहीं करें
  5. समानार्थी शब्द को प्रयोग में लाने से बचें. उनकी जगह किसी एक शब्द का उपयोग करें.
  6. लंबे-लंबे वाक्य का प्रयोग नहीं करें. और मानसिक तौर पर अपनी शब्द सीमा निर्धारित कर ले.
  7. जहां तक संभव हो, इसे अपनी भाषा में लिखने का प्रयास करें
  8. सामान्यतः सार संक्षेपण की शब्द सीमा मूल अनुच्छेद या लेख का एक तिहाई तय की गई है. तो इस बात का ध्यान रखें.

संक्षेपण की शब्द सीमा क्या होनी चाहिए?

सार संक्षेपण की शब्द सीमा से संबंधित कोई नियम नहीं है.परंतु सामान्य तौर पर फॉलो किया जाने वाला नियम यही है कि इसके शब्दों की संख्या मूल अनुच्छेद या गद्यांश के शब्दों की संख्या का एक तिहाई होना बेहतर होता है. इस नियम का फॉलो कर बेहतर सार संक्षेपण कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 thoughts on “सार संक्षेपण की तीन विशेषताएं लिखिए | Saar sankshepan ki tin visheshtayen likhiye

  1. […] सार संक्षेपण की तीन विशेषताएं लिखिए | Sa… […]

  2. […] बच्चों के लिए महत्वपूर्ण है. ऐसे ही ट्रेंडिंग टॉपिक से जुड़े आर्टिकल के लिए इस वेबसाइट से […]