आप घरेलू उद्योग के विषय में क्या जानते हैं? Aap gharelu udyog ke vishay me kya jante hai

21
2
आप घरेलू उद्योग के विषय में क्या जानते हैं? Aap gharelu udyog ke vishay me kya jante hai

आप घरेलू उद्योग के विषय में क्या जानते हैं – दोस्तों आज के समय में हम काम से कम लागत समय और प्रयास के साथ ज्यादा से ज्यादा पाना चाहते हैं. आज युवाओं की यह धारणा हो गई है कि उन्हें किसी के अंदर रहकर नौकरी नहीं करना पड़े. वह किसी के सुनना नहीं चाहते हैं. एक आम सी बात खासकर युवा कहते हैं कि दो पैसा कम कमाएंगे, लेकिन अपने मन का करेंगे. इसलिए घरेलू उद्योग एक अच्छा विकल्प है.

आप घरेलू उद्योग के विषय में क्या जानते हैं. कितना जानते हैं. इस आर्टिकल में आपको इन सभी सवालों का जवाब मिलेगा. साथ ही इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ना इसलिए जरूरी है. क्योंकि इससे घरेलू उद्योग को लेकर आपकी गलतफहमियां दूर होगी. और आपको उन चीजों की जानकारी होगी जो गलती से भी नहीं करना है.

Table of Contents

घरेलू उद्योग किसे कहते हैं – आप घरेलू उद्योग के विषय में क्या जानते हैं

घरेलू उद्योग क्या है – घरेलू उद्योग वैसे उद्योग को कहते हैं जो घर से किया जा सके. इस तरह के उद्योग में आप घर से ही प्रोडक्शन कर सकते हैं या घर से ही किसी प्रकार का पैकेजिंग का कार्य कर सकते हैं. इस तरह के उद्योग की सारी मशीन आपके घर पर ही सेट रहती है. आप सारा कार्य घर से ही निपटा सकते हैं. इसे करने वाले को सहूलियत होती है. और उनके समय और खर्च की बचत होती है. इसके करने का स्केल बहुत छोटा होता है.

Gharelu udyog ke bare mein Janakri

हर किसी की चाहत होती है कि वह ज्यादा से ज्यादा पैसा कमाए. इसके लिए कुछ लोग नौकरी पैसा चुनते हैं तो कुछ व्यवसाय का विकल्प चुनते हैं. इसके पीछे की वजह है रिस्क फैक्टर जो सभी नहीं लेना चाहते हैं. जो रिस्क नहीं लेना चाहते हैं वह नौकरी करते हैं. और जो रिस्क लेना चाहते हैं या लेने में सक्षम होते हैं.वह व्यवसाय करते हैं.

अब व्यवसाय को लेकर भी कई बातें हैं.पहली बात यह है कि हम कितनी लागत लगाने में सक्षम हैं. व्यवसाय इसी पर टिकता है कि हम आर्थिक रूप से कितने सक्षम हैं. अगर हमारे पास कम पैसा है. तो इसका सबसे बेहतर विकल्प है कि किसी भी उद्योग को हम घर से ही शुरू करें. ऐसे में हमारा खर्च कम होता है. हमें किराया नहीं देना होता है. हमें बाकी तरह तरह के एक्सपेंस से बचाव होता है. और हम छोटे स्केल पर अपने घर से ही व्यवसाय शुरू कर सकते हैं. कुछ घरेलू उद्योग ऐसे होते हैं जिन्हें आप अकेले ही शुरू कर सकते हैं. कुछ के लिए आप अपने परिवार के सदस्यों को भी शामिल कर सकते हैं. तो आइये इसे और डिटेल में जानते हैं.

मुनाफा देने वाले घरेलू उद्योग list

आप घरेलू उद्योग के विषय में क्या जानते हैं. यह जानने के बाद घरेलु उद्योग के उदाहरण से और स्पष्टता मिलेगी. घरेलू उद्योग को लेकर विकल्पों की कमी नहीं है. यह आप पर निर्भर करता है कि आपका इंटरेस्ट किस ओर है और आप किस चीज को लेकर स्किल्ड है. आप अपने स्किल और शौक को अपना बिजनेस बनाते हुए घरेलू उद्योग शुरू करें. आपके लिए बेहतर होगा. हम आपके स्किल के आधार पर ऐसे ही कुछ विकल्प आपको दे रहे हैं. आप इसमें अन्य विकल्प भी जोड़ सकते हैं :

  1. फर्नीचर निर्माण का कार्य
  2. टेलरिंग
  3. क्लाउड किचन
  4. ऑनलाइन सेलिंग
  5. कपड़े या चमड़े का बैग बनाना
  6. मोमबत्ती का बिजनेस
  7. ब्लॉगिंग का कार्य
  8. योग प्रशिक्षण का कार्य
  9. कंटेंट राइटिंग बिजनेस
  10. ऑनलाइन ट्यूशन
  11. दुग्ध व्यवसाय
  12. मुर्गी पालन
  13. मछली पालन
  14. बकरी पालन
  15. चावल कुटाई मिल
  16. आटा पिसाई मिल
  17. जूता निर्माण
  18. मिट्टी के खिलौने या बर्तन बनाना
  19. लकड़ी के फैंसी खिलौने बनाना
  20. हस्तशिल्प

आप घरेलू उद्योग के विषय में क्या जानते हैं – इसे कैसे शुरू करें

अगर आप आप घरेलू उद्योग के विषय में क्या जानते हैं इसे समझ चुके हैं. तो घरेलू उद्योग शुरू कैसे करना है. इसे समझते हैं. इसके लिए जरूरी है कि हम पहले अपनी कुछ तैयारी कर ले. सबसे पहले आपको अपने इंटरेस्ट को जानना होता है. इसके बाद यह समझना होता है कि क्या उस इंटरेस्ट में हमारा स्किल है. और अगर यह दोनों चीज है, तो आप बिना किसी शक के आगे बढ़ सकते हैं.

आपको उद्योग शुरू करने के लिए निम्नलिखित बातों का ध्यान रखना है :

मार्केट को समझना और कंपटीशन के बारे में रिसर्च करना

कई बार ऐसा होता है कि हम अपने बिजनेस आइडिया को बहुत बड़ा समझ लेते हैं. हमें यह लगता है कि अरे यह चीज शुरू करेंगे तो यह चलेगा ही चलेगा. लेकिन हमें यह समझने की जरूरत होती है कि मार्केट में उसकी मांग है भी या नहीं. हमें यह देखना होता है कि मार्केट में उसे चीज को पहले से कौन प्रोवाइड कर रहा है. यानी हमारा कंपीटीटर कौन हो सकता है. क्या हम उसे कंपीटीटर के साथ कंप्लीट करने के लिए तैयार है. या हमें और तैयारी करने की आवश्यकता है. इन सभी बातों को ध्यान में रखने की आवश्यकता होती है. हमारे ग्राहक कौन हैं. उन्हें किस तरह के सेवा या उत्पाद की जरूरत है और हमारे कंपीटीटर कौन है हमें उन्हें किस तरह से प्रतिस्पर्धा देना है. इन समझ के साथ आगे बढ़े

उसके बाद प्लान बनाएँ :-  इसके बाद जरूरी होता है कि हम अपने बिजनेस को लेकर योजना बनाएं.

आपकी सफलता आपकी योजना पर निर्भर करती है. आपको उस योजना में सारे पहलू को शामिल करना होगा. आपको रिस्क फैक्टर, अच्छी चीज, बुरी चीज सभी को शामिल करना होगा. अगर किसी परिस्थिति में कुछ गड़बड़ होता है तो उन चीजों को लेकर आप कैसे ओवर कम करेंगे. इन सारी चीजों को लेकर आपको एक योजना बनानी होती है. जिसमें आपको अपने उत्पाद से रिलेटेड मार्केटिंग और मूल्य निर्धारण से रिलेटेड, फाइनेंस और ऑपरेशनल प्लान तय करना होता है.

आप घरेलू उद्योग के विषय में क्या जानते हैं? Aap gharelu udyog ke vishay me kya jante hai

आप पढ़ रहे हैं – आप घरेलू उद्योग के विषय में क्या जानते हैं

  1. लाइसेंस और परमिट की जरूरत : इसके बाद का जो कदम आता है वह होता है लाइसेंस और परमिट के बारे में अप्लाई करना. घरेलू उद्योग शुरू करने के लिए आपको लाइसेंस और परमिट की आवश्यकता पड़ सकती है. इसके लिए आपको राज्य या स्थानीय सरकार के नियम और कानून के अनुसार अनुज्ञा पत्र और परमिट लेना होता है.
  2. सेट अप और मार्केटिंग स्ट्रेटजी : इसके बाद आपको अपने घरेलू उद्योग से संबंधित सेटअप करना होता है. और आपको अपनी मार्केटिंग स्ट्रेटजी बनानी होती है. आपने जो रिसर्च किया है. उस आधार पर आप तय करते हैं कि आप अपने ग्राहकों को कहां टारगेट करने वाले हैं. क्या आप ऑनलाइन माध्यमों का भी सहारा लेने वाले हैं. या सिर्फ जमीनी स्तर पर ही एडवर्टाइजमेंट करना है. क्योंकि आप मार्केट में नए होंगे तो आपके लिए बेहद आवश्यक हो जाता है कि आप अपनी मार्केटिंग करें.

इन बातों का रखें विशेष ध्यान :

घरेलू उद्योग सुनने और करने में आसान लगता है लेकिन इसमें हमें अपने प्रोफेशनल लाइफ और पर्सनल लाइफ को बहुत बैलेंस करके चलना होता है. आपका यह कोशिश होना चाहिए कि आपके बिजनेस में रिश्ते ना आए. अगर आपके बिजनेस में रिश्ता आएगा तो या तो बिजनेस खराब होगा या आपका रिश्ता खराब होगा.

लक्ष्य निर्धारित करें : आपको अपने लक्ष्य निर्धारित करने होंगे. ताकि आपको इससे एक दिशा मिलेगी. आपको यह पता चलेगा कि आपको कितना कार्य करना है. कभी-कभी ऐसा होता है कि जब चीज हम शुरू कर लेते हैं स्टार्टिंग में बहुत मोटिवेशन रहता है. लेकिन समय के साथ वह मोटिवेशन कम होते जाता है. तो उसे मोटिवेशन को बनाए रखने के लिए हमारा लक्ष्य निर्धारण बहुत आवश्यक हो जाता है.

आप घरेलू उद्योग के विषय में क्या जानते हैं – इन बातों का ध्यान रखना है ज़रूरी 

शेड्यूल बनाएं : चूँकि आप घर से कार्य कर रहे हैं तो आपको अपने व्यवसाय के अलावा और भी कार्य होंगे. जिसमें संतुलन बनाए रखने की जरूरत होगी. इसलिए आपको यह संतुलन बनाए रखने के लिए एक शेड्यूल की जरूरत होगी. जिसमें आप यह तय कर पाए कि कितना समय आप घर के कार्य को ले देंगे. और कितना समय आपको अपने व्यवसाय के लिए देना है.

आकलन करते रहे : आपको समय-समय पर अपने व्यवसाय का आकलन भी करते रहना है. इसके लिए जरूरी है कि थोड़ा ब्रेक ले और थोड़े ब्रेक के बाद जब वापस आए. तो उन चीजों को लेकर आकलन करें कि आपका व्यवसाय किस दिशा में चल रहा है. आप कितने मुनाफे या घाटे में है. या किसी तरह के बदलाव की जरूरत है जिससे आपके व्यवसाय को और गति मिलेगी.

अपने कंपीटीटर्स पर नजर रखें : जैसा कि हम जानते हैं मार्केट कंपटीशन का है. व्यवसाय कोई भी हो हर जगह कंपटीशन होता ही है. इसलिए अपने कंपीटीटर्स पर ध्यान रखना बेहद आवश्यक है. हर रोज नए कंपीटीटर्स आएंगे. और पुराने कंपीटीटर्स भी आपसे आगे बढ़ाना चाहेंगे. आप जिस तरह कार्य कर रहे हैं आपके कंपीटीटर्स भी उसी तरह कार्य कर रहे हैं इसलिए अपने कंपीटीटर्सपर नजर रखना जरूरी है.

आप घरेलू उद्योग के विषय में क्या जानते हैं- क्या हैं इसके फायदे

  1. घरेलू उद्योग को शुरू करने का सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि आपको अपने समय पर नियंत्रण होता है.
  2. इसके लिए बड़ी पूंजी की आवश्यकता नहीं होती है. कुछ व्यवसाय तो ऐसे होते हैं जिन्हें आप बहुत नाम मात्र के पूंजी के साथ शुरू कर सकते हैं.
  3. इस घर से शुरू करने के कारण आपको किसी तरह का किराया नहीं देना होता है.
  4. इससे आपकी व्यक्तिगत पहचान बनती है. यह इसलिए आवश्यक है क्योंकि दुनिया आज के डेट में पर्सनल ब्रांडिंग के लिए भाग रही है. तो इससे आपका पर्सनल ब्रांडिंग होता है.
  5. इससे बेरोजगारी जैसी समस्या का सबसे बड़ा जवाब हम खुद देते हैं.
  6. इसे साइड बिजनेस के तौर पर कर आप अपनी मासिक आमदनी में भी वृद्धि कर सकते हैं.
  7. इस तरह अपनी स्किल को आप दुनिया के सामने बोलकर नहीं कर कर दिखाते हैं.
  8. बिजनेस स्किल बढ़ता है जिससे बड़े व्यवसाय को लेकर एक अनुभव मिलता है.
  9. घरेलू उद्योग के शुरू करने के साथ आज के समय में सरकार भी अनेक योजनाओं के से प्रोत्साहन प्रदान करती है. उन योजना का लाभ लेकर आप अपने अनुभव के साथ नया व्यवसाय शुरू कर सकते हैं या अपने घरेलू उद्योग को ही बड़ा आकार दे सकते हैं.
  10. इसे शुरू करने के लिए कच्चा माल, मजदूर इत्यादि सस्ते दर पर उपलब्ध हो जाते हैं.

आप घरेलू उद्योग के विषय में क्या जानते हैं – जानिए इसे शुरू करने के जोखिम

  1. कभी-कभी ऐसा देखा गया है कि प्रोफेशनल और पर्सनल लाइफ में बैलेंस बनाना मुश्किल हो जाता है. जिसका बुरा असर व्यवसाय पर पड़ता है.
  2. उत्साह से बचना आवश्यक हो जाता है. कई बार हमें खुद का आईडिया बहुत बड़ा लगता है. और बिना तैयारी के बिजनेस के कारण नुकसान के बाद अपनी बची पूंजी भी खो देते हैं.
  3. कोविड जैसी महामारी की स्थिति में अगर यह हमारा सोलो बिजनेस होता है. जिस पर हमारी पूरी निर्भरता होती है. ऐसे में बिजनेस के ठप होने से हम पर बुरा प्रभाव पड़ता है.
  4. कभी-कभी जरूरी सिस्टमैटिक मैनेजमेंट की कमी के कारण हम अपने बिजनेस को खराब कर लेते हैं और अपना नुकसान कर बैठते हैं.
  5. इसके जोखिम का एक पहलू तकनीकी समस्या भी है. समय बदल रहा है और बादल से समय के साथ तकनीक भी बदल रही है. ऐसे में आपको अपडेट रहने की जरूरत होती है.
  6. बाजार की परिस्थिति में उतार-चढ़ाव संभव है. छोटे स्केल के बिजनेस के साथ यह समस्या होती है कि वह बाजार के बड़े उतार चढ़ाव को सरवाइव नहीं कर पता है.
  7. कुछ घरेलू उद्योग नियम और कानून से बंधे होते हैं. जिसका पालन करना आवश्यक होता है. और अगर किसी परिस्थिति में हम कोई गलती कर बैठते हैं तो वह एक छोटी सी गलती हमारे लिए भारी पड़ जाती है.
  8. घरेलू बिजनेस किसी एक आदमी पर डिपेंडेंट होता है ऐसे में अगर वह व्यक्ति किसी उलझन में फसता है या किसी तरह के आकस्मिक दुर्घटना का शिकार हो जाता है तो ऐसे में वह पूरा का पूरा बिजनेस ठप पड़ जाता है.

भारतीय महिलाओं के लिए घरेलू उद्योग

आज के समय में भारत में घर की महिलाएं भी घर के पुरुषों के साथ कदम से कदम मिलाकर चलने का हौसला रखती है. वह भी चाहती है कि वह घर की आर्थिक स्थिति के लिए अपना योगदान दे. घर में अपनी तरफ से कुछ पैसे लाए. अपने खुद के कमाए पैसे के सेविंग्स रखें. अपने घर के समय का सदुपयोग करें. और अपनी काबिलियत को बिजनेस बनाएं.

यहां हम भारतीय महिलाओं के लिए घरेलू उद्योग के कुछ विकल्प बता रहे हैं

  1. आचार- पापड़ का बिजनेस
  2. नमकीन का बिजनेस
  3. टिफिन सर्विस
  4. अगरबत्ती निर्माण का बिजनेस
  5. हस्तशिल्प
  6. बेकिंग
  7. क्लाउड किचन
  8. टेलरिंग
  9. ऑनलाइन ट्यूशन
  10. यूट्यूब या ब्लॉग

1. आचार- पापड़ का बिजनेस :

खाने में चटकारे किसे नहीं पसंद होता है. खाने के साथ अचार दे दो या पापड़ पका दो जैसी मांग तो हर घर में होती है. इसलिए यह सदाबहार बिजनेस है. इसे कभी भी घर से किया जा सकता है. इसके लिए किसी खास स्किल की जरूरत नहीं होती है. क्योंकि हमारे घर की महिलाएं इतनी बेसिक सी जानकारी युगो युगो से उपयोग कर घर में आचार और पापड़ जैसी चीज बनाते आ रही है.

2. नमकीन का बिजनेस :

स्नेक्स का विकल्प हम हमेशा ढूंढते हैं. आज के समय में हम चाहते हैं कुछ ऐसी चीज खाएं. जो हमारे लिए नुकसान देह ना हो. हम बाहर की चीजों को इग्नोर करना चाहते हैं. हम चाहते हैं कि हम घरेलू ही चीज खाएं. तो यह बेहतर विकल्प हो सकता है. आप घरेलू तरीके से नमकीन तैयार कर उसे बाजार में बेचे. और अपनी विश्वासनीयता बनाकर इसे बड़ा बिजनेस बना सकते हैं.

3. टिफिन सर्विस :

हमारे घर की महिलाएं किचन की महारथी होती है. पहले के जमाने में बहुत संयुक्त परिवार हुआ करता था. वैसे समय में ऐसा ऐसा भी देखा जाता था कि एक-एक घर में 100-100 सदस्य होते थे. और घर की महिलाएं उन 100 सदस्यों का खाना समय पर पका कर खिला लेती थी. यानी कि हमारे घर की महिलाएं कुछ भी करने में सक्षम है. अगर उनके इंटरेस्ट का चीज उनके लिए बिजनेस बन जाए. तो इससे बड़ी बात और क्या हो सकती है. टिफिन सर्विस हमेशा मांग में रहेगी. छात्र या बैचलर जो कार्य करते हैं, उन्हें बेहतर खान की जरूरत होती है. उन्हें बेहतर टिफिन सर्विस की जरूरत होती है. इसलिए इस व्यवसाय बनाकर आप घर से शुरू कर सकते हैं. और बेहतर पैसा कमा सकते हैं

4. अगरबत्ती निर्माण का बिजनेस :

अगरबत्ती बनाने का कार्य इतना सरल है कि घर की महिलाएं उसे घर से बैठे ही कर सकती है. उसमें बहुत ज्यादा ताम-झाम नहीं होता है. बस उसमें थोड़े से धैर्य की आवश्यकता होती है जो महिलाओं में तो होती ही है.

5. हस्तशिल्प :

आज के समय में हस्तशील चीजों की मांग बहुत बढ़ी है. यह अपने आप में बहुत बड़ा मार्केट है. लोग इसे पैसा बना रहे हैं, कमा रहे हैं. और यह कार्य आप घर से भी कर सकते हैं. अपनी सहूलियत के अनुसार से आप अपनी प्रोडक्टिविटी बढ़ा सकते हैं.

6. बेकिंग –

आप चाकलेट या केक बनाकर भी उसे मार्केट में भेज सकते हैं. इस कार्य के लिए जरूरी नहीं है कि कहीं सड़क किनारे कोई दुकान ही लिया जाए. आप घर से भी यह कार्य करके किसी दुकान को बेच सकते हैं. इसके लिए थोड़े से प्रयास की जरूरत होती है. और आपको अपने स्किल पर ऐसा महारत होना चाहिए कि सामने वाला जब आपका एक बार कस्टमर बन जाए. कोई रेस्टोरेंट जब आपसे सामग्री लेने लगे. तोवह आपका नियमित ग्राहक बन जाए.

7. क्लाउड किचन –

क्लाउड किचन एक नए कांसेप्ट है. इसमें आप घर पर ही खाना पका कर उसे ऑनलाइन सेल कर सकते हैं. आज के डेट में जोमैटो और स्विग्गी जैसे ऑप्शन है. जहां आप खुद को रजिस्टर कर क्लाउड किचन के माध्यम से खूब सारा पैसा बना सकते हैं.

यह पोस्ट भी पढ़े: संवैधानिक अध्यक्ष से आपका क्या अभिप्राय है समझाकर लिखिए | Samvaidhanik Adhyaksh Kya Abhipray Hai Samjha Kar Likhiye?

8. टेलरिंग –

जब तक लोग हैं तब तक फैशन को लेकर मारामारी चलती रहेगी. और ऐसे में लोग यह भी चाहते हैं कि वह मार्केट से थोड़ा अलग हटके दिखे. ऐसे में अगर आपको टेलरिंग का शौक है. तो आप इस बिजनेस के तौर पर आज ही शुरू कर दे. क्योंकि अगर आप में कुछ नया करने का हुनर है. और आप बेहतर कार्य कर सकते हैं तो आपके पास ग्राहकों की कमी नहीं होगी.

9. ऑनलाइन ट्यूशन –

ऐसा भी देखा गया है कि पढ़ी-लिखी महिलाएं अपने परिवार को तवज्जो देती हैं. उन्हें समय देना चाहती हैं. और वह इसीलिए बाहर कार्य नहीं करना चाहती हैं. कई बार ऐसा होता है कि उन्हें बाहर के कार्य संस्कृति पसंद नहीं होती है. ऐसे में आपकी सहूलियत के लिए ऑनलाइन ट्यूशन बेहद बेहतर विकल्प है. आप अपने ज्ञान को ऑनलाइन के माध्यम से छात्रों तक पहुंच कर उसे उसके बदले में कमाई कर सकते हैं.

10. यूट्यूब या ब्लॉग –

अब जमाना डिजिटल का है तो आपके लिए कमाई का एक विकल्प डिजिटल भी हो सकता है. आप अपने स्किल को यूट्यूब पर दिखा कर भी पैसा बना सकते हैं. आपको जो आता है उसकी वीडियो बनाएं. अगर आप बेहतर खाना बनाना जानती है या आपके पास खाना बनाने की ढेरों रेसिपीज है. तो आप उसका वीडियो बनाकर यूट्यूब पर डाल सकते हैं. या इस बारे में आप लिखकर भी गूगल पर पब्लिश कर सकते हैं. लिखने की इस कला को ब्लॉगिंग कहते हैं. और लोग ब्लॉगिंग कर लाखों लाखों रुपए कमा रहे हैं.

इस तरह के कई विकल्प है जो आप अपने शौक और कौशल के आधार पर चुन सकते हैं इसके लिए सबसे पहले आपको अपने अंदर झांकना जरूरी है.

निष्कर्ष –

हम आशा करते हैं कि इस आर्टिकल के माध्यम से आप घरेलू उद्योग के विषय में क्या जानते हैं. इसका जवाब आपको मिल गया होगा. ऐसी ही जानकारी के लिए इस वेबसाइट पर विजिट करते रहे और आपको यह आर्टिकल कैसा लगा. यह कमेंट करके अवश्य बताएं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 thoughts on “आप घरेलू उद्योग के विषय में क्या जानते हैं? Aap gharelu udyog ke vishay me kya jante hai

  1. […] यह पोस्ट भी पढ़े: आप घरेलू उद्योग के विषय में क्या जानते… […]

  2. […] यह पोस्ट भी पढ़े: आप घरेलू उद्योग के विषय में क्या जानते… […]